October 1, 2022
Asset Allocation क्या होता है | Asset Allocation In Hindi

Asset Allocation क्या होता है | Asset Allocation In Hindi

Asset Allocation kya hota hai :-  दोस्तों आपने Asset Allocation का नाम कभी न कभी तो अवश्य सुना होगा । मगर क्या आपने कभी यह जानने की कोशिश की है, कि Asset Allocation किया है और diversification क्या है और

diversification करने का तरीका क्या है और Asset Allocation के फायदे क्या क्या है अगर आपको इन सब के बारे में नहीं मालूम है। और आप Asset Allocation के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं,

तो आप हमारे इस लेख के साथ अंत तक बने रहे क्योंकि इस लेख में हम Asset Allocation से जुड़ी हर एक जानकारी प्राप्त करने वाले हैं तो चलिए शुरू करते हैं इस लेख को बिना देरी किए हुए।


Asset Allocation क्या होता है | what Is Asset Allocation In Hindi

Asset Allocation एक प्रकार का dividation method है, जिसका उपयोग investors share market में करते है। Asset Allocation के उपयोग से investor और shareholder अपने पैसों को अच्छी तरह से मैनेज करते हैं, और अपने Asset यानी पूंजी के एक हिस्से को थोड़ा-थोड़ा करके सभी चीजों में Invest करते हैं।

ताकि share market में उन्हें कम से कम रिस्क लेना पड़े और वह ज्यादा से ज्यादा मुनाफा कमा पाए , अक्सर यह काफी कामयाब शाबित होता है एक ही चीज़ में Invest करने के बजाय थोड़ा-थोड़ा सारे चीज़ में इन्वेस्ट करना एक बेहतर निर्णय है क्योंकि मार्केट में मंदी आने पर किसी एक चीज में काफी Downfall देखने को मिल सकते हैं।

मगर जब कोई व्यक्ति थोड़ा-थोड़ा करके सभी चीजों में अपना पैसा Invest किया रहता है, तो उसे एक Downfall आने से कोई फर्क नहीं पड़ता है बल्कि उसके एक दूसरे Investment उसे मुनाफा दे रहे होते हैं। आप भली-भांति जानते होंगे कि share market में कब मंदी होगा और कब गिरावट होगी इसका कोई पता नहीं लगा सकता है।

बल्कि लोग अपने experience और analysis के Basis पर अपने पैसों को share market में लगाते हैं और उसे मुनाफा कमाते हैं मगर वह कई बार गलत भी साबित होते हैं। मगर जो सफल trader या investors होते हैं वह अपने पैसों को Asset Allocation के हिसाब से लगाते हैं और अपने Asset को थोड़े थोड़े हिस्सों में डिवाइड करके Invest किया करते हैं। तो कुछ इस प्रकार से Asset Allocation होता है।


Diversification क्या होता है | what is diversification in Hindi

आपने अक्सर Asset Allocation में diversification का नाम सुना होगा। इसका अर्थ होता है किसी एक चीज में अपने पैसों को Invest ना करके उसके बजाय थोड़े-थोड़े चीजों में उन्हीं पैसों को Invest करना। यह एक प्रकार से investment को बांटने का काम करता है और लोग

बहुत सारे लोग Asset Allocation में diversification का उपयोग करते है, हालांकि यह एक बेहतरीन तरीका भी है अपने पैसों को इन्वेस्ट करने का, तो कुछ इस प्रकार से यह  diversification होता है।


Diversification करने का तरीका

Asset Allocation में diversification करने का बहुत सारा तरीका होता हैं। कोई भी invester या trader अपने investment का diversification बहुत से चीज़ों को देखते हुवे करता है। sector के हिसब से भी diversification किया जाता है।

जिन लोगों के पास Investment के लिए बहुत पैसा होता है, या जो लोग  Investment के लिए ज्यदा पैसों को कर यानी किसी से Loan लेते हैं वह अपने पैसों को उस share को खरीदने में Invest करते हैं जहाँ share तेजी में हो और कुछ पैसे उस जगह में भी लगाते हैं जहां मंदी यानी कि downfall देखने को मिल रही हो।

इसके साथ ही साथ वे अपनी पैसे का कुछ हिस्सा बहुत कम Risk वाली चीजों Bond, Gold या Liquid Fund में निवेश करते हैं। ऐसा करने से invester या trader का डूबने के कम chance होता है। तो दोस्तों यही तरीका होता है, Asset Allocation में diversification करने का।


Asset Allocation करने के फायदे

दोस्तों हमने ऊपर के टॉपिक में जाना कि Asset Allocation किया है और diversification क्या है और diversification करने का तरीका क्या है अब हम इस टॉपिक के मदद से जानेंगे कि Asset Allocation के फायदे क्या क्या होते हैं।

Asset Allocation के फायदे बहुत सारे होते है और इसके सभी फायदो को हमने नीचे में स्टेप बाई स्टेप कर के लिखा है, तो आप उन्हें ध्यान से पढ़े और समझे।

👉 अगर कोई व्यक्ति Asset Allocation को सही तरीके से अपनाता है, तो उसे ख़राब मार्केट में भी  कम नुकसान होता है।

👉 अगर  किसी ब्यक्ति ने सही तरीके से अपने portfolio का Asset Allocation  किया होता है तो वह बाजार के उतार चढ़ाव में वह बिलकुल भी घबराता नही है।

👉 आपको मालूम होगा कि कोई भी Share हर समय ना तो तेज़ी रह सकता है और ना ही मंदी में जब share market में एक चीज़ की किमत कम होती है तो दूसरे Asset की किमत बढ़ने लगता है, यानी कि share market में उतार चढ़ाव होते रहता है।

उदाहरण के तौर पर :- जिस तरह से आत्मा एक शरीर से निकल कर के दूसरे शरीर में जाती है, ठीक उसी तरह से पैसा एक Asset क्लास से निकल कर दूसरे Asset क्लास में जाता है। तो यह भी Asset Allocation का बहुत बड़ा फायदा होता है। तो दोस्तों Asset Allocation के यही सब मेन मेन फायदे हैं।


WAtch This For More Information :-  


( Conclusion, निष्कर्ष )

उम्मीद करता हूं, कि आप को मेरा यह लेख बेहद पसंद आया होगा और आप इस लेख के मदद से  Asset Allocation क्या होता है, के बारे में जानकारी प्राप्त कर चुके होंगे।

हमने इस लेख में सरल से सरल भाषा का उपयोग करके आपको Asset Allocation in hindi, से जुड़ी हर एक जानकारी के बारे में बताने की कोशिश की है।

Also Read :-

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.