December 4, 2022
Chand Par Kon Kon Gaya Hai

Chand Par Kon Kon Gaya Hai | चाँद पर कौन कौन गया हैं ?

Chand Par Kon Kon Gaya Hai :- पहले हमें यह भी जानकारी नहीं थी कि दुनिया गोल है या चपटी है। लेकिन आज विज्ञान ने इतनी ऊंचाई हासिल कर ली है की विज्ञान के माध्यम से लोग चांद पर भी जा रहे हैं।

कई लोगों को यह तो जानकारी होगी कि नील आर्मस्ट्रांग चांद पर गए थे। लेकिन इसके अलावा भी कई लोग चांद पर जा चुके हैं और वहां पर अपनी निशानियां छोड़े हैं।

आज के इस लेख में हम आपको यह बताएंगे, कि Chand Par Kon Kon Gaya Hai ? और साथ ही हम आपको यह भी बताएंगे, कि कौन सा व्यक्ति किस समय चांद पर गया था।


चांद पर कौन कौन गया है ? ( Chand Par Kon Kon Gaya Hai )

सबसे पहले हम आपको यह बता दें कि जो लोग चांद पर या Space में जाते हैं उन्हें अंतरिक्ष यात्री कहा जाता है। क्योंकि वे अंतरिक्ष की यात्रा करके आते हैं। अंतरिक्ष यात्री को इंग्लिश में एस्ट्रोनॉट भी (Astronaut) कहते हैं।

ऐसे कई भारतीय एवं विदेशी Astronaut हैं जो चांद पर जा चुके हैं और कई लोगों ने अपने रॉकेट में बैठकर चांद की परिक्रमा भी की है। आज हम आपको इन दोनों ही अंतरिक्ष यात्रियों के बारे में बताएंगे जो चांद पर चले हैं और जिन्होंने चांद की परिक्रमा की है।


चांद पर जाने वाले अंतरिक्ष यात्रियों के नाम

NASA ने ही कई तरह के मिशन को लांच किया, जिसके कारण अंतरिक्ष यात्री चांद पर गए थे।  जो कुछ इस प्रकार से है।

  1. नील आर्मस्ट्रांग
  2. बज़ एल्ड्रिन
  3. पीट कॉनराड
  4. एलन बीन
  5. एलन शेपर्ड
  6. एडगर मिशेल
  7. डेविड स्कॉट और जेम्स इरविन
  8. जॉन यंग और चार्ल्स ड्यूक
  9. युजिन सेरनन और हैरिसन स्च्मित्त

1. नील आर्मस्ट्रांग

नील आर्मस्ट्रांग के बारे में लगभग सभी लोगों ने सुना होगा यह दुनिया के पहले व्यक्ति हैं जिन्होंने चांद पर कदम रखा था। नासा ने अपोलो 11 मिशन के तहत नील आर्मस्ट्रांग को 20 जुलाई 1969 को चांद पर भेजा गया था।

नील आर्म स्ट्रांग अपोलो 11 मिशन के कमांडर थे। ऐसे तो कई और भी यात्री नील आर्म स्ट्रांग के साथ चांद पर गए थे पर नील आर्मस्ट्रांग के कारण ही चांद की यात्रा सफल हो पाई थी।

चांद पर से आने के बाद उन्होंने कई बार स्पीकर के रूप में साइंस के बारे में लोगों को समझाया है और एक साइंस सीरीज के Host भी रह चुके हैं। 82 साल की उम्र में ही नील आर्म स्ट्रांग का निधन 2012 में हो गया था।

2. बज़ एल्ड्रिन

बज़ एल्ड्रिन दुनिया के दूसरे व्यक्ति हैं जो चांद पर गए थे। बस एल्डरिन नील आर्म स्ट्रांग के साथ ही चांद पर गए थे। इन्हें सबसे बुजुर्ग एस्ट्रोनॉट का टाइटल भी मिला था क्योंकि यह अब तक के सबसे बुजुर्ग अंतरिक्ष यात्री थे, जिन्होंने 86 साल की उम्र में साउथ पोल तक पहुंचकर एक रिकॉर्ड बनाया था।

जब इन्हें 2016 में बुजुर्ग एस्ट्रोनॉट का टाइटल मिला था तो उन्होंने कहा था कि “मैंने मौत को बहुत ही करीब से देखा है”। बज़ एल्ड्रिन भी 20 जुलाई 1969 को अपोलो मिशन के तहत चांद पर गए थे। जब नील आर्म स्ट्रांग और बसेल्टन चांद पर गए थे तो उन्होंने चांद पर एक मून रोवर भी छोड़ा था।

3. पीट कॉनराड

पीट अपोलो 12 मिशन के समय चांद पर गए थे। यह चांद पर जाने वाले दुनिया के तीसरे व्यक्ति हैं। सन 1969 में ही पीट भी चंद्रमा पर गए थे। पीट एक विमान एक इंजीनियर भी थे। सन 1973 में यह नासा से रिटायर हो गए थे।

4. एलन बीन

एलन बीन अपोलो 12 मिशन के दौरान चांद पर पहुंचे थे और यह चांद पर जाने वाले चौथे व्यक्ति हैं। यह एक एयरोनॉटिकल इंजीनियर, नौसेना अधिकारी और परीक्षण पायलट थे। इसके अलावा यह नासा मैं कार्य भी करते थे। सन 1981 में नासा से रिटायर हो गए थे।

5. एलन शेपर्ड

एलन अपोलो 14 मिशन के दौरान चांद पर गए थे। यह विश्व के पांचवें व्यक्ति थे जिन्हें ने चांद पर कदम रखा था। इसके बाद इन्होंने नासा से सन 1974 में रिटायरमेंट ले ली थी। रिटायरमेंट के बाद भी इन्होंने कई तरह के कार्य किए।

6. एडगर मिशेल

एडगर विश्व के छठे व्यक्ति थे जिन्होंने चांद पर कदम रखा था। यह भी अपोलो 14 मिशन के दौरान एलन शेफर्ड के साथ चांद पर गए थे। इन्होंने नासा से सन 1972 में ही रिटायरमेंट ले ली थी। इसके बाद इन्होंने कई तरह के रिसर्च ऑर्गनाइजेशन में काम किया था।

7. डेविड स्कॉट और जेम्स इरविन

डेविड विश्व के सातवें व्यक्ति थे जिन्होंने चांद पर कदम रखा और जेंट्स दुनिया के आठवें व्यक्ति थे जिन्होंने चांद पर कदम रखा था। यह दोनों ही अंतरिक्ष यात्री अगस्त 1971 में अपोलो 15 मिशन के दौरान चांद पर गए थे।

डेविड स्कॉट ने तीन बार अंतरिक्ष यात्रा की थी क्योंकि डेविड स्कॉट ने अपोलो 9 मिशन और जैमिनी 8 मिशन में भी शामिल थे।

8. जॉन यंग और चार्ल्स ड्यूक

जॉन यंग और चार्ल्स ड्यूक भी NASA के द्वारा Launch किए गए अपोलो 16 मिशन के दौरान अप्रैल 1972 में चांद पर गए थे। यह विश्व के 9वें एवं 10वे व्यक्ति थे जिन्होंने चांद पर कदम रखा था।

जॉन यंग अपोलो 10 मिशन के दौरान चांद की परिक्रमा भी कर चुके थे। अपोलो 16 मिशन के बाद उन्होंने 1981 में अंतरिक्ष शटल उड़ान भी की थी। चार्ल्स ड्यूक ने अपोलो 11 में कैप्सूल कम्युनिकेटर के रूप में एक अच्छे भूमिका निभाई थी।

9. युजिन सेरनन और हैरिसन स्च्मित्त

युजिन और हैरिसन दिसंबर 1972 में अपोलो 17 के मिशन के दौरान चांद पर गए थे। युजिन और हैरिसन 12 दिन तक अंतरिक्ष में और चांद पर रहे और 19 दिसंबर को पृथ्वी पर लौटे थे।

यूजीन सरन बाहरी अंतरिक्ष के पहले वैज्ञानिक थे। इन्होंने चंद्र मॉड्यूल पायलट के रूप में अपोलो 17 मिशन के दौरान कार्य किया था।

इसके अलावा हैरिसन जब चांद पर जा रहे थे तो उन्होंने कहा था कि “मैं सतह पर हूं और जैसा कि मैं सतह से मनुष्य का अंतिम कदम उठाता हूं आने वाले कुछ समय के लिए घर वापस आ जाता हूं। लेकिन हम मानते हैं कि यह बहुत लंबा नहीं है। मैं बस यही कहना चाहूंगा कि भविष्य में यह एक इतिहास दर्ज करेगा और यह मेरा विश्वास है”।


चांद पर कौन कौन भारतीय गया है ?

हम आपको यह बता दें, कि चांद पर अभी तक कोई भी भारतीय नहीं जा पाया है। परंतु राकेश शर्मा ही वह व्यक्ति हैं, जिन्होंने भारत के रॉकेट को धरती से चांद तक पहुंचाया था। यह पहले भारतीय हैं, जो अंतरिक्ष में जा चुके हैं।


FAQ’S :

प्रश्न 1चांद पर कितने आदमी उतरे ?

उत्तर - चांद पर अब तक 12 आदमी उतर चुके हैं।

प्रश्न 2अंतरिक्ष में जाने वाली पहली महिला कौन थी ?

उत्तर - अंतरिक्ष में जाने वाली पहली भारतीय महिला कल्पना चावला थी।

प्रश्न 3क्या कोई भारतीय चांद पर गया है ?

उत्तर - नहीं अभी तक किसी भारतीय ने चांद पर कदम नहीं रखा है।

अंतिम विचार

आज के इस लेख में हमने आपको बताया, कि Chand Par Kon Kon Gaya Hai ?

उम्मीद है, कि इस लेख के माध्यम से अंतरिक्ष यात्रियों और चंद्र यात्रियों का नाम जान पाए होंगे जो अब तक चांद पर जा चुके हैं। यदि आप इस लेख से संबंधित कोई प्रश्न पूछना चाहते हैं तो हमें कमेंट में बताएं।


Also Read :- 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *