October 1, 2022
Currency Trading क्या है | Currency Trading In Hindi

Currency Trading क्या है | Currency Trading In Hindi

Currency Trading kya hai :-  दोस्तों आपने Share Market के दुनिया मे Currency Trading का नाम कभी न कभी तो अवश्य सुना होगा । मगर क्या आपने कभी यह जानने की कोशिश की है, कि Currency Trading क्या है,

और Currency Trading का अर्थ क्या होता है और Currency Trading क्यों जरूरी होता है और Currency Trading के नुकसान क्या है, अगर आपको इन सब के बारे में नहीं मालूम है।

और आप Currency Trading के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, तो आप हमारे इस लेख के साथ अंत तक बने रहे क्योंकि इस लेख में हम Currency Trading से जुड़ी हर एक जानकारी प्राप्त करने वाले हैं तो चलिए शुरू करते हैं इस लेख को बिना देरी किए हुए।


Currency Trading क्या है? | What Is Currency Trading In Hindi

जब हम कोई भी Trading मुद्रा यानी कि Currency में करते है तो वह Trading ही Currency Trading कहलाता है। Currency Trading अक्सर विदेशी मुद्राओं के साथ किया जाता है, क्योंकि जब कोई व्यक्ति विदेशी currency को खरीद कर या उस मे पैसा लगा कर अपने पास hold कर के रखता है।

और जब उन पैसों का मूल्य किसी और देश के Currency में बढ़ जाता है तो वह उन विदेशी Currency को exchange कर लेता है या फिर sell कर देता है। कोई भी व्यक्ति इस में Future & Option के मदद से Trading करता है। आपको मालूम होगा कि अलग अलग देश का अलग अलग Currency होता है।

अलग अलग Currency होने के कारण किसी देश के Currency का value ज्यदा होता है, तो देश के Currency का value कम होता है, Currency के value पूरे तरह से देश के market पर निर्भर करता है। Currency Trading भी एक प्रकार के Trading का भाग ही है।


Currency Trading meaning in Hindi | Currency Trading का अर्थ क्या होता है ?

Currency Trading का meaning Hindi में “मुद्रा व्यापार, Mudra Vyapar” होता है। Currency Trading को बहुत से लोग Forex Trading, Currency Exchange के नाम से भी जानते है, क्योंकि Forex Trading और Currency Exchange का मतलब भी वही होता है।

Currency Trading, Forex Trading, या Currency Exchange ये सारे एक ही है बस इनका नाम अलग अलग है, इन सभी का मतलब Currency में Trading ही होता है। मगर इन सब मे कुछ कुछ ऐसे अंतर होते है, जो इन्हें एक दूसरे से थोड़ा अलग अलग बनाते है। तो दोस्तों Currency Trading का यहीं मतलब होता है।


Currency Trading क्यों जरुरी है ?

दोस्तों आपको मालूम होगा कि पहले हमारे देश भारत के रूपए का निर्धारण Dollar currency की तुलना में किया जाता था, हालांकि यह अब भी है। इसका निर्धारण सरकार और RBI दोनों मिल कर करती थी, लेकिन अभी फिलहाल के समय मे यह Market से तय होता है।

Dollar की किमत भारत मे क्या होगा और भारतीए रुपये का कीमत doller में कितना होगा यह Demand और Supply के Basis पर तय होता है, जिस तरह से किसी भी company का Share IPO में List हो जाने के बाद, उसके Share का निर्धारण  Market तय करती है।

ठीक उसी प्रकार हमारे देश भारत के रूपए या किसी अन्य देश के currency की किमत क्या होगा यह भी Market में तय होता है। आपको मालूम होगा कि भारत में बहुत सारी companies है जो भारत के अलावा किसी अन्य देशो में भी काम करती है, इसके अलावा भारत से बहुत सारा समान दूसरे देशो में बेचे जाते है और दूसरे देशो से बहुत सा समान खरीदा भी जाता है,

जो की सारा व्यपार रूपए और डॉलर और अलग अलग देश के currency में किया जाता है। अगर कोई company जो की दूसरे देशो में काम करती है या दूसरे देशो को अपना product बेचती है उसके ऊपर Currency के बढ़ने और घटने का बहुत गम्भीर प्रभाव पड़ता है, अगर रूपए के किमत कम या अधिक होती है, या dollar की कीमत कम या अधिक होती है, तो कंपनी को Risk रहता है,

इसी Risk को कम करने के लिए और market को बरकरार रखने के लिए Currency Trading बहुत जरुरी होता है। company मुख्य रूप से इस का इस्तेमाल Hedging करने के लिए करती है। तो दोस्तों कुछ इस प्रकार से Currency Trading जरूरी होता है।


Currency Trading के नुकशान

दोस्तों हमने ऊपर के टॉपिक में जाना कि Currency Trading क्या है और Currency Trading का अर्थ क्या होता है और Currency Trading क्यों जरूरी होता है, अब हम इस टॉपिक के माध्यम से जानेंगे कि Currency Trading का नुकसान क्या है। तो चलिए शुरू करते हैं, इस टॉपिक को बिना देरी किए हुए।

Currency Trading करने का नुकसान भी बहुत है, उदाहरण के तौर पर मान लीजिए कि :- किसी भी country के Economy Stability के लिए और देश में business आसानी हो इसके लिए उस देश की currency का स्थिर होना जरुरी है,

इसके लिए उस देश की Reserve Bank इसको control करती है, और कुछ नियंत्रण Market के पास होता है, पूरा नियंत्रण इन्हीं दोनों के पास होता है। इस वजह से एक आम आदमी जो कि trading करता है उस के लिए इन सब को  समझ पाना और ट्रेडिंग करना काफी मुश्किल  होता है।

इसके आलवा कोई आम trader, currency trading में पैसे तभी कमाता है, जब उस विदेशी मुद्रा का उतार चढ़ाव हो लेकिन Currency में ऐसा बहुत कम देखने को मिलता है।


Watch This For More Information :-


( Conclusion, निष्कर्ष )

उम्मीद करता हूं, कि आप को मेरा यह लेख बेहद पसंद आया होगा और आप इस लेख के मदद से  Currency trading क्या होता है, के बारे में जानकारी प्राप्त कर चुके होंगे।

हमने इस लेख में सरल से सरल भाषा का उपयोग करके आपको Currency trading in hindi, से जुड़ी हर एक जानकारी के बारे में बताने की कोशिश की है।

Also Read :-

Leave a Reply

Your email address will not be published.