December 4, 2022
K kh g in Hindi

K kh g in Hindi and English | क से ज्ञ तक की बारहखड़ी

K kh g in Hindi :- हिंदी भाषा सीखने के लिए व्यंजन और वर्णमाला के बारे में जानना बहुत जरूरी होता है। जिस तरह से अंग्रेजी भाषा सीखने के लिए अंग्रेजी की अल्फाबेट यानी एबीसीडी ( ABCD ) सीखना जरूरी होता है, उसी तरह हिंदी भाषा का ज्ञान प्राप्त करने के लिए हिंदी वर्णमाला का ज्ञान होना अति आवश्यक होता है।

न केवल हिंदी भाषा बल्कि किसी भी भाषा को सीखने के लिए उस भाषा के अल्फाबेट या वर्णमाला को जानना सबसे ज्यादा जरूरी होता है।

रिपोर्ट के अनुसार विश्व भर में 615 मिलियन से भी ज्यादा लोग हिंदी भाषा बोलते हैं।  जी हाँ यह दुनिया की तीसरी सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा है। इतना ही नहीं हिंदी को भारत की राज्य भाषा में भी जगह दी गई है।

जानकारी के लिए आपको बता दें, कि राज्य में कामकाज के दौरान इस्तेमाल की जाने वाली भाषा को राजभाषा कहते हैं। यदि आप हिंदी भाषा सीखना चाहते हैं, तो इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें, क्योंकि यहां हम का से ज्ञ तक वर्णमाला के बारे में बता रहे हैं। यह बच्चों के प्रारंभिक ज्ञान के लिए भी बहुत जरूरी होता है।


क से ज्ञ तक ( K kh g in Hindi and English )

का से ज्ञ तक के बारे में जानने से पहले आपको स्वर और व्यंजन के बारे में ज्ञान होना बहुत जरूरी है। लेकिन उससे पहले आपको वर्ण किसे कहते हैं तथा वर्णमाला किसे कहते हैं के बारे में भी जानकारी होना अति आवश्यक है।


वर्ण किसे कहते हैं ?

ध्वनि या अक्षर के सबसे सूक्ष्म रूप या भाषा की सबसे छोटी इकाई जिन्हें विभाजित या बांटा नहीं जा सकता है, उन्हें वर्ण कहते हैं। मौखिक रूप से वर्ण को ध्वनि कहते हैं और लिखित रूप से इसे अक्षर कहा जाता है। जैसे – म् , प् , घ्,  च् , आदि।

वर्ण के कितने प्रकार होते हैं ?

मुख्य रूप से वर्ण के दो भेद है –

  • स्वर वर्ण और
  • व्यंजन वर्ण

स्वर वर्ण

जिन अक्षर का उच्चारण किसी दूसरे शब्द की सहायता के बिना किया जाता है उसे स्वर वर्ण कहते हैं। आसान शब्दों में कहे तो वैसे वर्ण जिसका उच्चारण स्वतंत्र रूप से किया जाता है उन्हें ही स्वर वर्ण कहते हैं।

स्वर वर्ण हिंदी के वर्णों का सबसे छोटा समूह होता है।  इनमें कुल 13 अक्षर शामिल होते हैं, जिनमें 11 स्वर वर्ण होते हैं और 2 अनुस्वर तथा विसर्ग होते हैं, जैसे :-

अनुस्वर – अं

विसर्ग – अः

व्यंजन वर्ण

वैसे अक्षर जिन्हें बोलते समय स्वर्ण वर्ण की मदद ली जाए उन्हें व्यंजन वर्ण कहते हैं इन वर्णों का उच्चारण स्वर वर्ण के बिना करना संभव नहीं है।

व्यंजन वर्ण हिंदी भाषा का सबसे बड़ा समूह होता है जिसके अंतर्गत कुल 36 अक्षर शामिल होते हैं लेकिन यदि उच्च कक्षाओं की व्याकरण को पड़े तो उसमें कुल 45 व्यंजन होते हैं जिन्हें अलग-अलग वर्गो में बांटा जाता है जैसे कि –

K kh g in Hindi :- 

वर्ग : क , ख , ग , घ , ङ (क़, ख़, ग़)

वर्ग : च , छ , ज , झ , ञ (ज़)

वर्ग : ट , ठ , ड , ढ , ण ( ड़,ढ़ )

वर्ग : त , थ , द , ध , न

वर्ग : प , फ , ब , भ , म (फ़)

अंतस्थ : य , र , ल , व

उष्म : श , श़, ष , स , ह

संयुक्त व्यंजन : क्ष , त्र , ज्ञ , श्र


वर्णमाला किसे कहते हैं ?

वैसे समूह जहां वर्णों को व्यवस्थित किया जाए उन्हें वर्णमाला कहते हैं। उच्चारण के आधार पर हिंदी में कुल 52 वर्ण होते हैं, जिनमें 11 स्वर और 41 व्यंजन होते हैं। लेकिन लेखन के आधार पर इसका उल्टा होता है। जी हां लेखन के आधार पर कुल 56 वर्ण होते हैं, जिनमें 11 स्वर, 41 व्यंजन और 4 संयुक्त व्यंजन होते हैं।

लेकिन छोटे बच्चों को प्रारंभिक शिक्षा के दौरान 49 वर्णमाला के बारे में ही सिखाया जाता है। हिंदी में वर्णमाला देवनागरी लिपि में लिखी जाती है। इस भाषा की उत्पत्ति संस्कृत भाषा से हुई है।

अ, आ, इ, ई, उ, ऊ, ए, ऐ, ओ, औ, अं, अः

क , ख , ग , घ , ङ, च , छ , ज , झ , ञ,  ट , ठ , ड , ढ, ण, त , थ , द , ध , न, प , फ , ब , भ , म, य , र , ल , व, श , श़, ष , स , ह, क्ष , त्र , ज्ञ


निष्कर्ष :

उम्मीद करते हैं, आज के लेख में हमारे द्वारा दी गई, जानकारी क से ज्ञ तक आपको अच्छी तरह से समझ आ गई होगी। हमने यहां आपको वर्ण किसे कहते हैं तथा वर्णमाला क्या है ? के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दी है साथ ही साथ आपको स्वर और व्यंजन वर्ण के बारे में भी जानकारी दी।

हमें आपसे बस यही निवेदन है, कि यदि आपको यह पोस्ट पसंद आया हो, तो इसे शेयर करें और यदि इस विषय से संबंधित आप अपनी राय हम तक पहुंचाना चाहते हैं तो नीचे कमेंट के माध्यम से अपनी राय हमें दे सकते हैं।


Also Read :- 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *